ASAMLIVE TVMain Slideउत्तर प्रदेशखबर 50दिल्ली एनसीआरदेशबड़ी खबर

पप्पू यादव ने 100 सीटों पर किया चुनाव लड़ने का एलान

कोरोना की स्थिति से पूरा देश जूझ रहा है परन्तु बिहार की कुछ पार्टियां चुनावी रणनीति बनाने में लगी हुई है बिहार के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने जन अधिकार पार्टी की दो दिवसीय बैठक बुलाई थी. इस बैठक के बाद पप्पू यादव ने बताया कि उनकी पार्टी बिहार में सौ सीटों पर चुनाव लड़ेगी. पप्पू यादव ने नया नारा गढ़ते हुए कहा कि हम बिहार के सपनों के साथ आगे बढ़ने जा रहे हैं और उसमें हम लोगों ने नया नारा दिया है.

30 वर्षों की क्या लाचारी, अधिकार मांगे हर बिहारी पप्पू ने कहा कि जन अधिकार पार्टी 18 अप्रैल से जनक्रांति यात्रा इसी नारे के साथ वैशाली और मोतिहारी की धरती से शुरू होगी. जो 30 मई में पटना के गाँधी मैदान पर जाकर खत्म होगी. उनका कहना था कि वह 30 साल के बिहार की दुर्दशा, गरीबी, बेरोजगारी, अपराध, महिलाओं की असुरक्षा पर इस यात्रा का आरंभ कर रहे हैं.

उनका कहना था कि बेटियों के भीतर भय, शिक्षा के साथ मजदूरों का पलायन, पानी, बाढ़, अपराध, भ्रष्टाचार से परेशान और सभी मुद्दों पर यह यात्रा आरंभ करने जा रहा हूं.बैठक के दौरान पप्पू यादव ने कहा कि आज वह सबकी विचार धारा को जानते हैं अब साथ ही उनका यह भी कहना था

कि सीपीआई, वामपंथी पार्टी के साथ गठबंधन किया जाएगा. कांग्रेस की बात करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व के बड़े विकल्प इसमें शामिल होंगे तो वो तय करेंगे कि मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में पप्पू यादव की पार्टी 100 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है.

पप्पू यादव ने प्रशांत किशोर, मुकेश साहनी, उपेन्द्र कुशवाहा और जीतन राम मांझी के साथ व्यापक गठबंधन की बात कही है. तेजस्वी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी जिम्मेदारी विपक्ष में है तो वो गायब रहते हैं. उनका कहना है कि मेरा और मेरी पार्टी का मानना है कि बिहार का मुख्यमंत्री गैर यादव, पिछड़े और अत्यंत पिछड़ा दलितों का चेहरा हो. जो बिहार में सभी जाति और धर्म को एक साथ लेकर चल सके, जहां साम्प्रदायिकता ना हो और जातीय उन्माद न हो. दो सालों के अंदर हर परिवार के एक सदस्य को रोजगार की गारंटी दे.

Related Articles

Back to top button