उत्तराखंडप्रदेश

उत्तराखंड के कर्इ जिलों में तेज बारिश, पेड़ गिरने से बिजली की लाइनें क्षतिग्रस्त

उत्तराखंड में सुबह से ही मौसम का मिजाज कुछ ठीक नहीं था। गढ़वाल से लेकर कुमाऊं के अधिकतर जिलों में बारिश हुर्इ। भारी बारिश के चलते गंगोत्री मार्ग भूस्खलन की वजह से बाधित हो गया था। हालांकि बाद में उसे सुचारू कर दिया गया। वहीं, यमुनोत्री मार्ग पर डाबरकोट के पास लगातार भूस्खलन जारी है। उत्तराखंड में सुबह से ही बारिश का दौर जारी है। देहरादून के कुछ हिस्सों में तेज बारिश हुर्इ। जिससे जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। वहीं हरिद्वार, पौड़ी टिहरी और कुमाऊं के अल्मोड़ा, चंपावत, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल जिले में जोरदार बारिश हुर्इ। जिससे तापमान में गिरावट दर्ज की गर्इ है और लोगों ने राहत की सांस ली है। हालांकि, कर्इ क्षेत्रों में हुर्इ तेज बारिश ने लोगों की दुश्वारियां बढ़ाने का काम किया है। सड़कों पर गड्ढ़ों में पानी भर गया है जिससे कभी भी कोर्इ हादसा हो सकता है। 

Loading...

बारिश से एक ओर जहां जगह-जगह मार्ग बाधित हुए हैं और भूस्खलन हुआ है। तो वहीं मौसम का यात्रा पर कोर्इ असर नहीं पड़ा है। बदरीनाथ और केदारनाथ यात्रा पर कोर्इ असर नहीं पड़ा है, लेकिन यात्रियों की संख्या में कमी जरूर आई है।

बिजली की तारों पर गिरा पेड़ 

ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर तपोवन के पास एक बड़ा पेड़ टूटकर बिजली की तारों पर गिर गया। जिससे क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति बाधित हो गर्इ। सूचना पर थाना मुनिकीरेती पुलिस के साथ नेशनल हाईवे की टीम मौके पर पहुंची। पुलिस के मुताबिक नेशनल हाईवे श्रीनगर कार्यालय ने वन विभाग को 20 दिन पूर्व इस खतरनाक पेड़ को काटने के लिए लिखा था। लेकिन विभाग की ओर से कोई कार्रवार्इ नहीं हुई।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV