जम्मू कश्मीरप्रदेश

अमरनाथ यात्रा में बारिश से हुए भूस्खलन में फंसे श्रद्धालु को हेलीकॉप्टर से बालटाल पहुंचाया गया

बालटाल मार्ग पर बारिश से हुए भूस्खलन से पंजतरणी में फंसे श्री अमरनाथ के श्रद्धालुओं को सुरक्षित निकालने के लिए शुक्रवार को बचाव कार्य चलाया गया। वायुसेना के हेलीकाप्टरों से 326 श्रद्धालुओं को बालटाल पहुंचाया गया।

Loading...

श्री अमरनाथ यात्रा मार्ग पर हुई बारिश से बालटाल से पवित्र गुफा तक के मार्ग को भारी नुकसान पहुंचा है। ट्रैक पर कई जगहों पर भूस्खलन होने से श्रद्धालु फंस गए थे, जिन्हें पंजतरणी पहुंचाया गया। इनमें कई बीमार, वृद्ध और महिला श्रद्धालु भी थे।

राज्यपाल एनएन वोहरा के निर्देश पर श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी उमंग नरूला की देखरेख में सुबह बचाव कार्य शुरू हुआ। एयर फोर्स के तीन हेलीकाप्टरों एमआइ-17 ने कई उड़ानें भरकर श्रद्धालुओं को लिफ्ट करके बालटाल पहुंचाया। राज्यपाल का शुक्रवार को जम्मू आने का निर्धारित कार्यक्रम था, लेकिन श्रद्धालुओं के बचाव कार्यों को देखते हुए उन्होंने इसे रद कर दिया।

राज्यपाल ने अपने सलाहकार बीबी व्यास व उमंग नरूला के साथ बालटाल, पंजतरणी और नुनवान यात्रा कैंपों का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया। राज्यपाल ने कैंप डायरेक्टरों, प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक भी की।राज्यपाल ने निर्देश दिए कि बचाव दल के सदस्यों की संख्या को बढ़ाया जाए।

ट्रैक से मलबा हटाने के लिए अतिरिक्त श्रमिकों को भेजा जाए। जहां से ट्रैक ज्यादा खराब है, वहां पर लाइट का प्रबंध किए जाए। बरारीमर्ग में मजिस्ट्रेट तैनात किया जाए। चूंकि बालटाल रूट खराब है, जो यात्री पहलगाम रूट से यात्रा करना चाहते है, वे अपनी इच्छानुसार कर सकते हैं। इस बीच, गांदरबल के डिप्टी कमिश्नर डॉ. पीयूष ¨सगला ने कहा कि पंजतरणी से हेलीकाप्टरों के जरिए करीब साढ़े तीन सौ श्रद्धालुओं को बालटाल पहुंचाया गया। बढ़ी संख्या में श्रद्धालु पैदल चल कर भी बालटाल पहुंचे हैं। बालटाल से यात्रा शुरू करना मौसम पर निर्भर करता है।

अमरनाथ यात्रा बहाल, 73023 श्रद्धालुओं ने किए दर्शन

दो दिन बंद रहने के बाद शुक्रवार को मौसम में सुधार के साथ शुक्रवार को श्री अमरनाथ यात्रा बहाल हो गई। पहलगाम से स्थित नुनवन और चंदनबाड़ी स्थित आधार शिविरों से 8236 श्रद्धालु यात्रा पर निकले, लेकिन रास्ता खराब होने से बालटाल से कोई पैदल श्रद्धालु रवाना नहीं हुआ।

बालटाल से सिर्फ हेलीकाप्टर के जरिए ही कुछ श्रद्धालु पवित्र गुफा तक पहुंचे। शुक्रवार सुबह से शाम तक 4821 श्रद्धालुओं के पवित्र गुफा में माथा टेकने के साथ ही इस साल यात्रा करने वालों की संख्या 73023 पहुंच गई। इस बीच, बालटाल व पहलगाम में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए जम्मू में आधार शिविर यात्री निवास भगवती नगर से शुक्रवार दूसरे दिन भी श्रद्धालुओं का जत्था रवाना नहीं किया गया।

हादसे में दो अमरनाथ श्रद्धालु घायल

मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले के गुंड इलाके में शुक्रवार को सड़क दुर्घटना में दो अमरनाथ श्रद्धालु घायल हो गए। घटना तड़के 7 बजे के करीब उस समय घटी जब बालटाल से श्रीनगर आ रही एक बस जेके 10सी-2397 तीखा मोड़ काटते हुए चालक के नियंत्रण से बाहर होकर उलट गई। इससे बस में सवार दो श्रद्धालु घायल हो गए जिन्हें उप जिला अस्पताल कंगन पहुंचाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। एसएचओ गुंड पुलिस थाना सैयद आरिफ ने घटना की पुष्टि की है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। 

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV