जम्मू कश्मीरप्रदेश

बुरहान की कब्र पर पहुंच आतंकी ने फायरिंग की

पुलिस ने कश्मीर में जगह जगह आतंकी बुरहान की बरसी पर होने वाली फातेह ख्वानी को रोक लिया है। पीपुल्स पोलिटिकल पार्टी के चेयरमैन हिलाल जेकेएलएफ नेता जावेद मीर संग त्राल में आतंकी बुरहान की कब्र पर पहुंच गए। इस बीच, आतंकियों के एक दल ने भी हवा में गोलियां दाग उसे श्रद्धांजलि अर्पित की। 

Loading...

रविवार को आतंकी बुरहान की दूसरी बरसी है। बुरहान को उसके एक अन्य साथी संग आठ जुलाई 2016 को सुरक्षाबलों ने बमडूरा कोकरनाग में मार गिराया था। कश्मीर में अलगाववादी संगठनों के साझा मंच ज्वायंट रजिस्टेंस लीडरशिप ने आठ जुलाई को कश्मीर बंद का आह्वान करते हुए शुक्रवार को पूरी वादी में नमाज ए जुम्मा के बाद आतंकी कमांडर की आत्मा की शांति के लिए फातेह ख्वानी के लिए कहा था।

प्रशासन ने आतंकी कमांडर की फातेह ख्वानी की आड़ में वादी में हालात बिगाड़ने की अलगाववादियों की साजिश को भांपते हुए जेकेएलएफ चेयरमैन यासीन मलिक को तड़के ही उनके घर से गिरफ्तार कर कोठीबाग पुलिस स्टेशन की हवालात में बंद कर दिया। कट्टरपंथी सैयद अली शाह गिलानी की नजरबंदी को जारी रखते हुए सख्त कर दिया। उन्हें दोपहर बाद अपने घर के बाहर हैदरपोरा मस्जिद में नमाज के लिए आने दिया।

नमाज के बाद उन्हे दोबारा उनके घर में नजरबंद कर दिया गया। हैदरपोरा और उसके साथ सटे इलाकों में नमाज के बाद कुछ शरारती तत्वों ने पथराव कर हालात बिगाड़ने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने हालात पर काबू पा लिया। उदारवादी हुíरयत प्रमुख मीरवाइज मौलवी उमर फारूक को बीती रात ही नजर बंद बनाया गया और उन्हें उनके घर से बाहर नहीं आने दिया। किसी भी जगह शरारती तत्व जमा न हों इसके लिए सभी संवेदनशील इलाकों मे सुरक्षा का पुख्ता बंदोबस्त रखा गया था।

इस बीच,पीपुल्स पोलिटीकल पार्टी के चेयरमैन हिलाल अहमद वार और जेकेएलएफ नेता जावेद अहमद मीर पुलिस से बचते हुए त्राल में आतंकी बुरहान के घर पहुंच गए। उन्होंने बुरहान के परिजनों क साथ संवेदना जताई और उसके बाद ईदगाह त्राल में आतकी की कब्र पर जाकर उसकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी की। इसी बीच, ईदगाह त्राल में दोपहर को पांच नकाबपोश आतंकी भी बुरहान की कब्र पर आए । उन्होंने वहां फातेहा अदा किया और हवा में गोलियां चलाई। इसके बाद वह वहां से चले गए।

सीआरपीएफ के शिविर में ग्रेनेड फेंक भागे आतंकी

आतंकियों ने शुक्रवार शाम को श्रीनगर के पंथाचौक में सीआरपीएफ जवानों पर ग्रेनेड हमला करने के दो घंटे बाद पुलवामा में सीआरपीएफ के शिविर पर अंडर बैरल गन (यूबीजीएल) से ग्रेनेड दागा। दोनों हमलों में सुरक्षाबलों को नुकसान नहीं पहुंचा। शाम करीब साढ़े छह बजे आतंकियों ने पंथाचौक में नाके पर तैनात सीआरपीएफ के जवानों पर ग्रेनेड फेंका। ग्रेनेड जवानों से कुछ दूरी पर गिरकर फट गया। चौक में मची अफरातफरी का फायदा उठाकर आतंकी भाग निकले।

साढ़े आठ बजे के आस-पास आतंकियों ने टहाब पुलवामा में स्थित सेना की 55 आरआर और सीआरपीएफ की 180वीं वाहिनी के शिविर पर हमला किया। आतंकियों ने पहले शिविर पर दो यूबीजीएल ग्रेनेड दागे। दोनों ही ग्रेनेड शिविर के बाहर गिरे और धमाके के साथ फट गए। आतंकियों ने स्वचालित हथियारों से शिविर पर गोलियां दागी। जवानों ने जवाबी फायर किया। करीब पांच से सात मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चली। इसके बाद आतंकी भाग निकले। एसएसपी पुलवामा मोहम्मद असलम चौधरी ने कहा कि आतंकियों को पकड़ने के लिए टहाब में तलाशी अभियान चलाया गया है। 

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV