जम्मू कश्मीर

J&K में आतंकियों के खौफ से पुलिस ऑफिसर ने छोड़ी नौकरी!

स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) पर बढ़ते हमलों और उन्हें नौकरी छोड़ने के लिए सुनाए गए आतंकी फरमानों का असर अब नजर आने लगा है। शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के त्राल में नौ एसपीओ ने मस्जिदों में पुलिस की नौकरी छोड़ने का एलान किया और पुलिस के साथ काम करने के लिए माफी भी मांगी।

Loading...

हालांकि किसी भी पुलिस अधिकारी ने आतंकियों के डर से किसी एसपीओ के नौकरी छोड़ने की पुष्टि नहीं की है। गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों के दौरान दक्षिण कश्मीर के त्राल, पुलवामा, शोपियां और कुलगाम में आतंकियों ने आठ से ज्यादा पुलिस एसपीओ को गोली मारकर जख्मी कर दिया या मौत के घाट उतारा है। 

इसके साथ ही आतंकी संगठनों ने त्राल, कुलगाम और शोपियां में धमकी भरे पोस्टर जारी कर एसपीओ को नौकरी छोड़ने और पुलिस की मदद के लिए माफी मांगने का फरमान सुनाया है।

फरमान न मानने वालों को आतंकी संगठनों की ओर से गंभीर परिणामों की धमकी भी दी गई है। त्राल से मिली जानकारी के अनुसार, पस्तुना स्थित मस्जिद में इमाम ने नमाज ए जुम्मा से पूर्व छह एसपीओ के नाम लेते हुए बताया कि इन लोगों ने पुलिस की नौकरी छोड़ दी है।

नौकरी छोड़ने वाले पस्तुना के इन छह एसपीओ के नाम परवेज अहमद अहंगर पुत्र गुलाम कादिर, हिलाल अहमद खान पुत्र अब्दुल रहमान, मुजफ्फर अहमद खान पुत्र गुलाम नबी, मुदस्सर अहमद मीर पुत्र अब्दुल मजीद, इरशाद अहमद राथर पुत्र अजीम राथर व इशरत अल्हेई पुत्र अब्दुल गनी बताए जा रहे हैं।

इसी दौरान त्राल के लारु गांव की जामिया मस्जिद में इमाम ने पुलिस में बतौर एसपीओ कार्यरत तीन युवकों इसहाक अहमद बट पुत्र गुलाम मोहिउद्दीन, गुलजार अहमद नेजाद वानी पुत्र गुलाम मोहिउद्दीन और एजाज मीर पुत्र अब्दुल गनी का नाम लेते हुए एलान किया कि यह भी एसपीओ की नौकरी से इस्तीफा दे चुके हैं।

इस्तीफा देने वाले इन एसपीओ ने मस्जिदों में एलान के समय कहा कि वह भविष्य में पुलिस या किसी अन्य सुरक्षा एजेंसी के साथ काम नहीं करेंगे। इस संदर्भ में जब संबधित पुलिस थाना प्रभारी से लेकर डीआइजी दक्षिण कश्मीर रेंज अमित कुमार से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो कोई भी उपलब्ध नहीं हो पाया। 

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV