जम्मू कश्मीर

आतंकियों की धरपकड़ के लिए चलाया कासो, हिंसा में दो घायल

 दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शुक्रवार को सुरक्षाबलों की ओर से घेराबंदी कर चलाए गए तलाशी अभियान (कासो) के दौरान हिंसा पर उतारू आतंकी समर्थकों ने पथराव कर दिया। भीड़ को खदेड़ने के लिए सुरक्षाबलों को भी बल प्रयोग करना पड़ा।

Loading...

उन्होंने सुरक्षाबलों को घेराबंदी हटाने और गांव से बाहर जाने के लिए कहा, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने कासो जारी रखा। इस पर नारेबाजी कर रहे युवकों ने पथराव शुरू कर दिया। बताया जाता कि सुरक्षाबलों ने पहले तो संयम बनाए रखा, लेकिन जब पथराव कर रहे युवकों ने सुरक्षाकर्मियों से मारपीट करते हुए उनके हथियार छीनने का प्रयास किया तो उन्होंने लाठियों और आंसूगैस का इस्तेमाल किया।

हिंसा के दौरान गोली लगने से दो युवक फैयाज अहमद पडर और जहांगीर अहमद बट जख्मी हो गए। पुलिस ने हिंसक तत्वों पर सुरक्षाबलों द्वारा गोली चलाए जाने से इन्कार किया है। इस बीच, राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल के जवानों और सीआरपीएफ के अलग-अलग संयुक्त कार्यदलों ने श्रीनगर में अल-शारिक कॉलोनी छत्ताबल, बटमालू के बारापथर, कानीकदल, जीरो ब्रिज आरमवारी और आरिपोरा जेवन में आतंकी गतिविधियों की सूचना पर कासो चलाए।

श्रीनगर में किसी भी जगह कासो के दौरान कोई हिंसा नहीं हुई। इन इलाकों में आतंकियों के सभी संदिग्ध ठिकानों की तलाशी ली गई, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं मिला। सूत्रों ने बताया कि बटमालू और जेवन से दो युवकों को संदेह के आधार पर पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

ड्यूटी से लौट रहे सुरक्षाबलों पर पथराव :श्रीनगर के डाउन-टाउन के गिली इलाके से शाम करीब साढ़े पांच बजे सुरक्षाबल ड्यूटी कर लौट रहे थे तो शरारती तत्वों ने उन पर पथराव शुरू कर दिया। जवानों ने हिंसक भीड़ पर काबू पाने के लिए बल प्रयोग करते हुए लाठियों, आंसूगैस और पैलेटगन का सहारा लिया। इस दौरान शारिक अहमद सोफी नामक एक किशोर पैलेट लगने से जख्मी हो गया।

बम धमाके का मुख्य साजिशकर्ता गिरफ्तार

मानसबल पार्क में करीब दो माह पहले हुए बम धमाके के मुख्य साजिशकर्ता को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल, उससे पूछताछ जारी है। गौरतलब है कि ईद अल फितर के एक दिन बाद 17 जून को जिला गांदरबल के अंतर्गत मानसबल झील के पास स्थित पार्क में बम विस्फोट हुआ था। इस धमाके में 13 लोग जख्मी हुए थे।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि बम विस्फोट की जांच दौरान पुलिस को पता चला कि कोंडबल सफापोरा के रहने वाले मोहम्मद इमरान सोफी पुत्र अब्दुल मजीद सोफी ने इसे अंजाम दिया है। पुलिस जब उसे पकड़ने के लिए उसके ठिकाने पर पहुंची तो वह गायब हो चुका था।

पुलिस उसे तलाश रही थी और आज उसे पकड़ लिया गया। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि मोहम्मद इमरान जिला गांदरबल में सक्रिय कुख्यात पत्थरबाजों में एक है। वह पहले भी कई बार राष्ट्रवरोधी गतिविधियों में पकड़ा जा चुका है। 

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV