LIVE TVMain Slideदेशमहाराष्ट्र

किसान आंदोलन को लेकर शिवसेना ने किया वार

केंद्र सरकार की ओर से कृषि कानून के विरोध में दिल्‍ली में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए शिवसेना ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए बीजेपी के बहान कांग्रेस पर भी निशाना साधने की कोशिश की है.

Loading...

शिवसेना ने कहा कि दिल्‍ली में गणतंत्र दिवस के दिन जो कुछ भी हुआ उसके बाद किसानों को देशद्रोही ठहरा दिया गया है. शिवसेना ने तंज कसते हुए कहा है कि कांग्रेस के शासन में भी कुछ अलग नहीं होता था.

किसान आंदोलन को लेकर शिवसेना ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा, गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ओर से निकाली गई ट्रैक्‍टर रैली में किसान हिंसक हुए, क्‍योंकि उन्हें उस तरह से उकसाया गया.

किसानों को उकसानेवाला और किसानों को लाल किले तक ले जानेवाला आखिरकार भाजपा परिवार से निकलना. इससे बड़ा मजाक और क्या हो सकता है?शिवसेना के मुखपत्र में कहा आज सरकार ने किसानों को देशद्रोही ठहरा दिया है.

साल 1975 में सरकार के खिलाफ आंदोलन करनेवालों को इंदिरा गांधी ने भी ‘राष्‍ट्रद्रोही’ शक्ति कहकर ही कमजोर किया था. सत्ताधारी पार्टी की प्रेरणा से जब दंगे होते हैं तब अहिंसा पर दिए गए प्रवचन उपयोगी सिद्ध नहीं होते हैं.

किसानों का आंदोलन किस तरह से राष्ट्रद्रोही है इस पर भाजपा का आईटी विभाग अब सोशल मीडिया में प्रवचन झाड़ रहा है. अंतत: प्रधानमंत्री, गृहमंत्री की कुछ जिम्मेदारी है कि नहीं?

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV