यूपीटीईटी 2018 के प्राथमिक स्तर में 33 फीसद अभ्यर्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं

यूपीटीईटी 2018 के प्राथमिक स्तर में 33 फीसद अभ्यर्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपीटीईटी 2018 के प्राथमिक स्तर में 33 फीसद अभ्यर्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी उत्तर प्रदेश ने देर रात परिणाम घोषित कर दिया है। अभ्यर्थी वेबसाइट पर रिजल्ट देख सकते हैं। इस बार टीईटी में सबसे अधिक परीक्षार्थी शामिल हुए थे और रिजल्ट के उत्तीर्ण प्रतिशत में अब तक का यह तीसरा सबसे बड़ा परिणाम है।

यूपीटीईटी परीक्षा के रिजल्ट का लोगों को लंबे समय से इंतजार खत्म हो गया। अब उम्मीदवार रिजल्ट चेक कर सकते हैं। अपना रिजल्ट चेक करने के लिए परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों को रोल नंबर डालकर उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर सबमिट करना होगा। http://upbasiceduboard.gov.in/tet_regno.aspx उम्मीदवार उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट upbasiceduboard.gov.in पर अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। फिलहाल ज्यादा ट्रैफिक होने की वजह से वेबसाइट डाउन है। लिहाजा अभ्यर्थियों को परिणाम देखने के लिए कुछ इन्तजार करना पड़ सकता है।

UPTET Result 2018: मोबाइल पर ऐसे कर पाएंगे चेक

स्टेप 1: मोबाइल ब्राउजर Upbasiceduboard की वेबसाइट Upbasiceduboard.gov.in ओपन करें।

स्टेप 2: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा की वेबसाइट पर दिए गए रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें।

स्टेप 3: मांगी गई जानकारी भरकर सबमिट करें।

स्टेप 4: आपका रिजल्ट आपकी स्क्रीन पर आ जाएगा, आप अपने रिजल्ट का प्रिंट ऑउट ले सकते हैं।

बता दें कि शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन प्रदेश के दो हजार से अधिक केंद्रों पर 18 नवंबर को हुआ था। इम्तिहान के 16वें दिन मंगलवार देर रात प्राथमिक स्तर की परीक्षा रिजल्ट जारी हुआ है। इसमें 33 फीसद यानी करीब 3,66,285 अभ्यर्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं।

UPTET Result 2018 ऐसे कर पाएंगे चेक

स्टेप 1: रिजल्ट चेक करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट upbasiceduboard.gov.in पर जाएं।

स्टेप 2: वेबसाइट पर दिए गए UPTET 2018 Result के लिंक पर क्लिक करें।

स्टेप 3: मांगी गई जानकारी भरकर सबमिट करें।

स्टेप 4: आपका रिजल्ट आपकी स्क्रीन पर आ जाएगा, आप अपने यूपीटीईटी रिजल्ट का प्रिंट ऑउट ले सकते हैं।

इम्तिहान के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने उत्तर कुंजी 20 नवंबर की जगह 22 नवंबर को सुबह नौ बजे वेबसाइट पर अपलोड की। 23 नवंबर की शाम छह बजे तक आपत्तियां ली गई थीं। संशोधित उत्तर कुंजी 30 नवंबर को जारी हुई। इसमें प्राथमिक में छह और उच्च प्राथमिक स्तर परीक्षा में तीन सवालों के जवाब बदले गए थे, हालांकि इसमें पूछे गए प्रश्नों को लेकर अब भी विवाद है। करीब 14 प्रश्नों के जवाब को हाईकोर्ट में चुनौती दी जा चुकी है।

टीईटी 2018 प्राथमिक का रिजल्ट देर रात घोषित कर दिया गया। परीक्षा में शामिल कुल 1101645 परीक्षार्थियों में 366285 पास हुए। इस प्रकार कुल 33 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए. कैंडिडेट्स उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट upbasiceduboard.gov.in पर अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। परीक्षा परिणाम जारी करने के साथ सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि परीक्षार्थी अपना परिणाम 5 दिसंबर को दोपहर बाद वेबसाइट upbasiceduboard.gov.in पर देखने के साथ उसका प्रिंट ले सकते हैं। वेबसाइट पर परीक्षाफल 7 जनवरी 2019 तक देख सकते हैं। प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 1101710 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी थी, यानी 69076 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे थे। वहीं उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 571416 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी, इसमें 41514 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे थे।

परीक्षा में सबसे अधिक परीक्षार्थी

इस बार टीईटी अभ्यर्थियों की संख्या के हिसाब से सबसे बड़ी परीक्षा है। टीईटी की दोनों पालियों में 17,83,716 परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी। इनमें से 16,73,126 यानी 93.80 प्रतिशत परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे, वहीं 1,10,590 गैरहाजिर थे। प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 11,70,786 परीक्षार्थियों में से 11,01,710 यानी 94.1 प्रतिशत तथा उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 6,12,930 परीक्षार्थियों में से 5,71,416 यानी 93.22 प्रतिशत परीक्षार्थी शामिल हुए।

अब तक तीसरा सबसे बड़ा रिजल्ट

यूपी टीईटी 2018 में सिर्फ अधिक परीक्षार्थी और कम दिन में परिणाम ही नहीं आया है, बल्कि उत्तीर्ण प्रतिशत प्रतिशत में भी कीर्तिमान बनाया है। सबसे पहली टीईटी 2011 में हुई उसमें प्राथमिक स्तर का रिजल्ट 50.18 फीसद रहा है। 2014 की प्राथमिक स्तर का रिजल्ट 44.10 फीसदी रहा और 33 प्रतिशत के साथ तीसरा नंबर टीईटी 2018 का आया है। वहीं, 2013 की प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 25.27 फीसद, 2015 में 24.86, 2016 में 24.85 और 2017 में 17.34 फीसद अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए थे।

You Might Also Like