LIVE TVMain Slideदेशप्रदेश

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन को लेकर दिया बड़ा बयान

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ‘ओमीक्रोन’ को लेकर देशभर में दहशत का माहौल है. इस बीच हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि कोरोना के नए वेरिएंट लड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग को पूरी तरह से सक्रिय कर दिया गया है

Loading...

और स्वास्थ्य विभाग को कोरोना से लड़ने का अनुभव भी है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि कोरोना की पिछली दो लहरों में हमारे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सफलतापूर्वक काम किया था.

इसके अलावा विज ने कहा कि राज्य में पीएसए ऑक्सीजन के लगभग 90 प्लांटों को स्थापित किया गया और इन्हें संचालित करने के आदेश दे दिए गए हैं. इसी प्रकार कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रान की जांच के लिए जीनोम सीक्वेंस की आवश्यकता होती है

और इसका पता लगाने के लिए रोकफेलर संस्था ने महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (रोहतक) को एक मशीन निशुल्क प्रदान की है, जिसको संचालित करवा दिया गया हैं.

उन्होंने कहा कि इस मशीन के मार्फत जीनोम सीक्वेंस का काम होना शुरू हो गया है. वहीं, विज ने कहा कि जीनोम सीक्वेंस के लिए पहले सभी नमूने दिल्ली में भेजने पड़ते थे और दिल्ली में जीनोम सीक्वेंस का पता करने में देरी हो जाती थी.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हम ओमीक्रान वेरिएंट से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. इसके अलावा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उनके द्वारा राज्य के सभी जिला उपायुक्तों, पुलिस आयुक्तों, पुलिस महानिरीक्षकों व पुलिस अधीक्षकों को वायरलैस मैसेज करके आदेश जारी कर दिए गए हैं

कि कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन करवाया जाए. यदि कोई इन नियमों जैसे कि मास्क पहनाना और सोशल डिस्टेंसिंग इत्यादि का उल्लंघन करता है, तो उनका चालान काटा जाए और काटे गए चालान की रिपोर्ट उनको प्रस्तुत की जाए.

इसके अलावा विज ने कहा कि जनसभा व सामाजिक कार्यक्रम इत्यादि के लिए राज्य सरकार द्वारा जो एसओपी या दिशानिर्देश जारी किए गए हैं, चाहे वह इंडोर व आउटडोर हैं अर्थात जो नवीनतम एसओपी हैं,

उसकी सख्ती से पालना करवाई जाए. इसके अतिरिक्त जिले के किसी भी अधिकारी द्वारा ऐसी जनसभा या सामाजिक कार्यक्रमों का निरीक्षण भी करवाया जाए. उन्होंने कहा कि लोगों की भलाई और स्वास्थ्य के लिए जितनी भी सख्ती करनी पड़ेगी, वह की जाएगी.

इस दौरान वेंटिलेटर के संबंध में पूछे गए सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री विज ने कहा कि 100 बिस्तर से अधिक क्षमता वाले सभी अस्पतालों में वेंटिलेटर्स को संचालित करने के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं,

ताकि किसी भी आपात स्थिति से निपटा जा सके. उन्होंने कहा कि हमारे पास वेंटिलेटर हैं, परंतु कहीं न कहीं मैनपावर की दिक्कत थी, जिसे भी रि-एडजस्ट करने के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं.

वहीं, विज ने विदेशों से आने वाले यात्रियों को लेकर कहा कि विदेशों से आने वाले यात्रियों का सारा रिकॉर्ड केंद्र सरकार द्वारा रखा जा रहा है और वहां से निगेटिव आने वाले यात्रियों को बाहर जाने दिया जाता है.

हरियाणा से संबंधित जिलों के बारे में जानकारी केंद्र सरकार द्वारा दी जाती है उसके बाद हमने स्वास्थ्य टीमों को निर्देश दिए हैं कि वे रोजाना ऐसे यात्रियों की निगरानी करें.

यदि उनमें इन्फयूंजा लाइक इलनेस (आईएलआई) अर्थात बुखार इत्यादि तो नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा कि ये टीमें ऐसे यात्रियों की सप्ताह भर तक निगरानी रखेंगी और यदि बुखार इत्यादि के लक्षण आते हैं तो उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया जाएगा.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV