LIVE TVMain Slideदिल्ली एनसीआरदेशसाहित्य

अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर से पंजाब के एजुकेशन मॉडल पर किया सवाल

आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर से पंजाब के एजुकेशन मॉडल पर सवाल उठाए हैं. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है कि पंजाब में सरकारी स्कूल बहुत बुरी स्थिति में हैं. अरविंद केजरीवाल ने इन शैक्षणिक संस्थानों की स्थिति सुधारने के लिए उनकी पार्टी को राज्य की सत्ता में लाने की अपील की है.

Loading...

केजरीवाल ने पंजाब के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई नहीं होने का आरोप लगाया है. केजरीवाल ने कहा, ”पंजाब में शिक्षा की हालत बहुत खराब है. सरकारी स्कूल बहुत बुरी स्थिति में हैं. सरकारी स्कूलों में बिल्कुल पढ़ाई नहीं होती है.

पंजाब के अध्यापक बहुत अच्छे हैं लेकिन वे उदास हैं. पंजाब के सरकारी विद्यालयों में गरीबों, दलितों एवं अनुसूचित जाति समुदाय के 24 लाख विद्यार्थी पढ़ते हैं . सोचिए, इन बच्चों का भविष्य क्या है.”

पंजाब में अगले साल की शुरुआत में में विधानसभा चुनाव होने हैं और आम आदमी पार्टी सत्तारूढ़ कांग्रेस से सत्ता हथियाने के लिए जी-तोड़ कोशिश में जुटी है. हाल के दिनों में सत्तारूढ़ कांग्रेस और आप नेताओं ने पंजाब एवं दिल्ली में अपने विद्यालयों में शिक्षा की स्थिति पर एक दूसरे पर निशाना साधा है.

अरविंद केजरीवाल ने कहा, ”पहले दिल्ली में सरकारी विद्यालयों की दशा दयनीय थी लेकिन हमने उसकी स्थिति सुधारी. अब उन विद्यालयों की स्थिति इतनी सुधर गयी है कि इस साल निजी विद्यालयों से 2.5 लाख विद्यार्थियों ने सरकारी विद्यालयों में प्रवेश लिया.”

केजरीवाल का कहना है कि पंजाब के स्कूलों को भी दिल्ली के स्कूलों की तरह अच्छा होना चाहिए. दिल्ली के सीएम ने कहा, ”क्या पंजाब के सरकारी विद्यालय दिल्ली की भांति अच्छे नहीं होने चाहिए? लेकिन चन्नी साहब कहते हैं कि पंजाब के विद्यालय राष्ट्रीय स्तर की तुलना में बहुत अच्छे हैं और उनमें सुधार की जरूरत नहीं है.”

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV