मध्य प्रदेश

कांग्रेस का वादा, यदि सत्ता में आए तो सरकारी दफ्तरों में संघ की शाखा पर लगेगा बैन

 मध्‍य प्रदेश विधानसभा चुनावों की तैयारियों में जुटी कांग्रेस ने शनिवार को अपना घोषणा पत्र ‘वचन पत्र’ के नाम से जारी कर दिया है. भोपाल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस की मध्‍य प्रदेश इकाई के प्रमुख कमलनाथ , कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता दिग्विजय सिंह और कांग्रेस नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने अन्‍य कांग्रेस नेताओं के साथ पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया. कांग्रेस ने इसमें नारा दिया है ‘आओ बनाएं मध्‍य प्रदेश, फिर सजाएं अपना प्रदेश.’ लेकिन, घोषणा पत्र के अंदर एक पन्ने पर संघ को लेकर कुछ ऐसी बातें लिखीं हैं जो बताता है कि कांग्रेस सत्ता में आई तो आरआरएस के खिलाफ सख्त कदम उठा सकती है.

Loading...

सरकारी दफ्तरों में संघ की शाखाओं पर कांग्रेस की न

आपको बता दें कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में लिखित रुप से इस बात का वादा किया है कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो सरकारी कार्यालयों में संघ की शाखाओं पर बैन लगाया जाएगा. घोषणा पत्र के 80वें पन्ने पर 47.62वें बिन्दु में जिक्र किया गया है कि “शासकीय परिसरों में आरएसएस की शाखायें लगाने पर प्रतिबंध लगायेंगे तथा शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारियों को शाखाओं में छूट संबंधी आदेश निरस्त करेंगे.”

ई-अटेंडेंस समाप्त करने की बात

इसके अलावा उस पन्ने पर लोकायुक्त का गठन नए सिरे से करने, ई-अटेंडेंस समाप्त करने की बात भी कही गई है. इसके साथ ही लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में हुई गड़बड़ियों की जांच के लिए जांच आयोग गठित करने का वादा भी किया गया है.

किसानों के दो लाख रुपये तक के कर्ज माफ

कांग्रेस ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिये शनिवार को अपना घोषणापत्र जारी करते हुए वादा किया कि प्रदेश में सत्ता में आने पर किसानों के दो लाख रुपये तक के कर्ज माफ किये जाएगें. इसके साथ ही कांग्रेस ने प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने वाले उद्योगों को वेतन अनुदान देने का भी वचन दिया है. कांग्रेस ने प्रदेश के किसानों को कृषि भूमि रजिस्ट्री शुल्क में छूट देने और छोटे किसानों को कन्या विवाह हेतु 51,000 रुपये की सहायता देने का भी वादा किया है.

112 पन्ने का ‘वचन पत्र’ जारी

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने पत्रकार वार्ता में पार्टी का 112 पन्ने का ‘वचन पत्र’ जारी करते हुए इसे प्रदेश की जनता की आवाज बताया और कहा कि इसे समाज के हर वर्ग के साथ गहन विचार विचार विमर्श के बाद तैयार किया गया है. कांग्रेस द्वारा जारी किये गये इस वचन पत्र में कर्मचारी, हस्तशिल्पी, आम जनता, महिला, पत्रकार सहित सभी वर्गो के लिये कुछ न कुछ अच्छा करने का वादा किया गया है, लेकिन सबसे अधिक किसान और युवा वर्ग पर ध्यान दिया गया है

किसानों के लिए घोषणाओं की बौछार

प्रदेश कांग्रेस ने किसानों के लिए घोषणाओं की बौछार करते हुए दो लाख रुपये तक कर्ज माफ करने, 60 वर्ष की आयु के छोटे किसानों को 1,000 मासिक पेंशन देने, बिजली बिल आधा करने, गेहूं, धान, ज्वार, बाजरा, मक्का, सोयाबीन, सरसों, कपास, अरहर, मूंग, चना एवं मसूर, उड़द, लहसुन, प्याज, टमाटर एवं गन्ना पर बोनस देने, दूध पर पांच रुपये प्रति लीटर बोनस देने, कृषि भूमि की रजिस्ट्री में छूट के तहत पुरुष किसान को 6 फीसद तथा महिला किसान को 3 प्रतिशत का रियायती शुल्क लेने सहित डीजल-पेट्रोल पर छूट देने का वादा किया गया है. कांग्रेस ने इसके साथ ही मंदसौर पुलिस गोली कांड जिसमें छह किसानों की मौत हुई थी, की पुन: न्यायिक जांच उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से कराने की भी घोषणा की है. इसके साथ ही किसानों को दो लाख रुपये तक के कृषि उपकरण खरीदने पर 50 प्रतिशत अनुदान देने की घोषणा की गई है.

युवाओं पर भी रहा खास फोकस

वचन पत्र में प्रदेश में 50 करोड़ रुपये के निवेश और प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने वाले उद्योगों को पांच वर्ष के लिये 10,000 रुपये वेतन अनुदान देने और विवेकानंद युवा शक्ति निर्माण मिशन के तहत टूरिस्ट गाइड, अधिवक्ता या आपदा प्रबंधन जैसे क्षेत्र में नया कार्य करने वालों को पांच वर्ष तक 4,000 रुपये प्रतिमाह सहभागिता प्रोत्साहन राशि देने का वादा भी किया गया है.

युवा आयोग के गठन की घोषणा

कांग्रेस ने प्रदेश में सत्ता में आने के बाद युवाओं की समस्याओं पर विशेष ध्यान देने के लिये युवा आयोग के गठन की भी घोषणा की है. कांग्रेस ने स्थानीय युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने वाले उद्योगों को जीएसटी में राहत देने की बात भी कही है.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV