प्रदेशमध्य प्रदेश

पार्षद के खिलाफ एफआईआर दर्ज, गनमैन पर सत्ता पक्ष मौन

कांग्रेस पार्षद ताहिर अली के खिलाफ नगर निगम द्वारा की गई शिकायत पर कार्रवाई करते हुए ओमती पुलिस ने मारपीट का मामला दर्ज कर लिया है। उधर, विपक्ष से चर्चा के बाद सत्तापक्ष ने दोषी गनमैन को तत्काल हटाने का आश्वासन तो दिया था, लेकिन 24 घंटे बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई।

Loading...

नगर निगम में मंगलवार को निगमायुक्त के सुरक्षागार्ड और कांग्रेस पार्षद ताहिर अली के बीच हुए विवाद के बाद धरने पर बैठे विपक्ष को सत्तापक्ष ने आश्वासन देकर शांत तो कर दिया, लेकिन उस पर अमल नहीं किया गया। शाम को करीब 2 घंटे तक सत्तापक्ष, विपक्ष और निगमायुक्त के बीच जो चर्चा हुई थी उसके अनुसार दोषी गनमैन को तत्काल हटाना था। इसके अलावा गनमैन ठेका का परीक्षण किया जाना था। लेकिन बुधवार को ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। नगर निगम ने अपनी ओर से कोई कार्रवाई नहीं की।

उधर, ओमती पुलिस ने नगर निगम द्वारा दी गई शिकायत की जांच के बाद कांग्रेस पार्षद ताहिर अली के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज कर लिया है। जबकि कांग्रेस पार्षद दल ने जो शिकायत दी थी उस पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

राज सिक्योरिटी पर मौन सत्ता –

नगर निगम में गनमैन का ठेका भोपाल की राज सिक्योरिटी कंपनी का है। इसी कंपनी को हाल में कम्प्यूटर ऑपरेटर का ठेका भी दिया जाना चर्चा का विषय बना था। यह ठेका एमआईसी में गोलमोल प्रस्ताव के आधार पर दिया गया था। इसी कारण पूरा सत्तापक्ष राज सिक्योरिटी के खिलाफ मौन बना हुआ है।

नगर निगम प्रशासन ने मेरे खिलाफ बलवा का प्रकरण दर्ज कराया है, जो गलत है। गलती गनमैन की थी। उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब मैं खुद न्याय के लिए लडूंगा और अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद घर नहीं नगर निगम पहुंचकर अमरण अनशन पर बैठूंगा।

– ताहिर अली, कांग्रेस पार्षद

दोनों पक्षों से शिकायत हुई थी। कांग्रेस पार्षद के खिलाफ मामला कायम हो गया है। गनमैन के खिलाफ अभी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पुलिस की जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV