उत्तराखंडप्रदेश

चेन लूट का खुलासा, दो शातिरों को किया गिरफ्तार

पुलिस के लिए चुनौती बने दो शातिर चेन स्नेचरों को कैंट पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दोनों शातिर कोतवाली कैंट के राजेंद्र नगर और वसंत विहार क्षेत्र के महारानी बाग में हुई चेन स्नेचिंग की घटना में शामिल थे। पुलिस ने उनके कब्जे से लूटी हुई चेन भी बरामद कर ली हैं।

Loading...

पुलिस के मुताबिक, शुक्रवार को भी वह चेन स्नेचिंग की घटना को अंजाम देने के इरादे से बल्लूपुर क्षेत्र में घूम रहे थे। विदित है कि 18 जून को एसजीआरआर की पूर्व प्रधानाचार्य विनोद कक्कड़ पत्नी बृजमोहन निवासी गली नंबर पांच राजेंद्र नगर सुबह मंदिर जा रही थीं। इसी दौरान बाइक सवार दो बदमाशों ने उनके गले से चेन झपटकर फरार हो गए। महिला ने बाइक का नंबर नोट कर लिया था। जिसके बाद कैंट पुलिस ने महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर बाइक सवार बदमाशों की तलाश शुरू कर दी।

इसके लिए आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर दोनों युवकों की पहचान की गई। कोतवाली प्रभारी कैंट शंकर सिंह बिष्ट ने बताया कि शुक्रवार को पुलिस बल्लूपुर रोड पर चेकिंग कर रही थी इसी दौरान ओएनजीसी हॉस्पिटल के सामने गली में घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल दिखाई दी जिस पर दो युवक बैठे हुए थे। पुलिस को देखकर दोनों भागने लगे, लेकिन पुलिस ने उन्हें दबोच लिया।

कोतवाली में लाकर जब उनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने राजेंद्र नगर क्षेत्र में हुई चेन लूट की घटना के साथ ही आकाशदीप कॉलोनी में हुए पर्स लूट और अप्रैल माह में थाना वसंत विहार के महारानी बाग में हुई चेन लूट की घटना में अपना हाथ कबूला। पुलिस ने उनके कब्जे से लूटी गई दो चेन बरामद कर ली। आरोपितों की पहचान विक्की सिंह पुत्र स्व. देवेंद्र सिंह निवासी हाउस नंबर 13 सबोली अड्डा दिल्ली, हाल पता इंदिरा नगर थाना वसंत विहार व धर्मेद्र सिंह पंवार पुत्र जोत सिंह पंवार निवासी कोटी खास पट्टी खास जिला टिहरी गढ़वाल हाल पता इंदिरा नगर के रूप में हुई।

क्राइम पेट्रोल देखकर मिली प्रेरणा 

गिरफ्तार चेन स्नेचरों में से एक विक्की काफी शातिर है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि इससे पहले वह दिल्ली में फास्ट फूड की दुकान चलाते थे। वहां धंधा ठीक से नहीं चला। जिससे वह मार्च में देहरादून आ गए। यहां भी उनका फास्ट फूड की दुकान खोलने का इरादा था। इसके लिए उन्होंने इंद्रानगर क्षेत्र में दो कमरे लिए। एक कमरे में विक्की और उसका परिवार और दूसरे में धर्मेंद्र रहने लगा।

विक्की ने बताया कि दोनों का सपना फास्ट फूड की एक बड़ी दुकान खोलने का था। जिसके लिए उनके पास पैसे नहीं थी। इसी बीच हाल ही में क्राइम पेट्रोल सीरियल में गोवा में हुई चेन स्नेचिंग की घटनाओं के बारे में बताया गया। इस घटनाओं को देखने के बाद उसने भी दून में चेन स्नेचिंग की घटना करने की योजना बनाई। धर्मेंद्र को भी उसने इसके लिए तैयार कर लिया।

इसके बाद दोनों ने बाइक से चेन स्नेचिंग और पर्स लूट की घटनाओं को अंजाम देना शुरू कर दिया। एक-दो प्रयास किया लेकिन, उसमें वह सफल नहीं हो पाए। इसके बाद वसंत क्षेत्र के महारानी बाग में उन्होंने पहली चेन स्नेचिंग की घटना की थी और बाद में एक महिला से पर्स लूट और फिर 18 जून को उन्होंने राजेंद्र नगर में लूट की घटना को अंजाम दिया। पकड़े नहीं जाते तो वह अन्य घटनाओं को भी अंजाम देने वाले थे।

योग कार्यक्रम के दौरान भी बनाई थी योजना 

कैंट पुलिस के मुताबिक आरोपितों से पूछताछ में पता चला कि दोनों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर एफआरआइ के योग कार्यक्रम के दौरान चेन स्नेचिंग की घटना को अंजाम देने की योजना बनाई थी। इसके लिए उन्होंने आसपास के क्षेत्र में रैकी की थी, लेकिन काफी पुलिस फोर्स और आसपास ट्रैफिक बंद होने के कारण बाद में उन्होंने योजना बदल दी। शुक्रवार को भी बल्लूपुर के आसपास चेन स्नेचिंग की घटना को अंजाम देने के फिराक में घूम रहे थे।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close