Main Slideउत्तर प्रदेशट्रेंडिगप्रदेशमध्य प्रदेश

मंत्रिमंडल विस्तार होने के पांच दिन बाद भी मंत्रियों के बीच विभागों का नहीं हुआ बंटवारा

महाराष्ट्र के उद्धव ठाकरे सरकार में विभागों के बंटवारे को लेकर घमासान अभी भी है जारी महा विकास अघाडी की पांच घंटे से अधिक समय तक चली मैराथन बैठक के बाद भी मंत्रालयों के आवंटन पर आम सहमति नहीं बन पाई. गठबंधन सरकार में सहयोगी कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेताओं के बीच गुरुवार रात इस विषय पर हुई बैठक में जोरदार बहस हो गई. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इसके पहले भी दोनों पार्टियों के बीच इसी बात को लेकर बहस हुई थी. बताया जा रहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार में 12 सीटें पाने वाली कांग्रेस ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित दो विभाग और चाहती है और वो अपनी इस मांग को लेकर अड़ी हुई है.

Loading...

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गठबंधन के घटक दलों शिवसेना,एनसीपी और कांग्रेस के बीच बातचीत सिर्फ विभागों के बंटवारे पर नहीं हुई, बल्कि मंत्रियों की नियुक्ति को लेकर भी चर्चा हुई. बैठक के बाद कांग्रेस नेता अशोक ने कहा कि उनकी पार्टी ने विभागों के बंटवारे के मामले में अपना स्टैंड मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को बता दिया है. इस बैठक में कांग्रेस के बालासाहेब थोराट, एनसीपी के अजीत पवार और शिवसेना के एकनाथ शिंदे समेत अन्य ने हिस्सा लिया.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV