Main Slideउत्तर प्रदेशदिल्ली एनसीआर

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने दिया बड़ा बयान ….

बता दे की कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि देश विरोधी नारे नहीं लगने चाहिए। ये नारे अलगाववाद के नारे हैं। इनका नागरिकता संशोधन कानून 2019 के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में जगह नहीं है। वे हमारे देश की अखंडता पर सवाल उठाते हैं। इससे सीएए के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन भी कमजोर हो रहा है।बता दें कि देश के कई हिस्सों में नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है।

Loading...

वहीं इसके समर्थन में भी प्रदर्शन हो रहा है। इसी बीच अभिषेक मनु सिंघवी का यह बयान आया है। इससे इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन पर सवाल उठने लगे हैं। यह कानून पिछले साल दिसंबर में संसद में पास हुआ था। इस कानून में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से सताए जाने के कारण भारत आए धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का प्रावधान है, जो लोग 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए हैं।

इस कानून को लेकर देश में घमासान मचा हुआ है। विपक्ष का कहना है कि सराकर यह कानून मुस्लिमों को निशाना बनाने के लिए लाई है, वहीं सरकार ने बार-बार ये बात साफ किया है कि इस कानून का मकसद केवल और केवल इन तीन देशों के धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता देना है। इससे किसी के नागरिकता पर कोई खतरा नहीं है। विपक्ष सीएए के बारे में अफवाहें फैला रहा है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV