Main Slideविदेश

अफगानिस्तान में तालिबान का हमला, 100 से ज्यादा लोगों को बनाया बंधक

अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ अस्थायी संघर्षविराम के ऐलान के 24 घंटे बाद 100 से ज्यादा लोगों को तालिबानी आतंकियों ने बंधक बना लिया है। इनमें महिलाएं व बच्चे भी शामिल हैं। अफगान सरकार के अधिकारियों ने बताया कि तालिबान ने सोमवार को उत्तरी अफगानिस्तान में एक सड़क से गुजर रही बसों के काफिले पर घात लगाकर हमला किया और विद्रोहियों द्वारा हालिया हमले में महिलाओं और बच्चों सहित 100 से अधिक लोगों को बंधक बना लिया गया है। ईद-उल अजहा से कुछ दिनों पहले राष्ट्रपति अशरफ गनी की ओर से आतंकी संगठन से सीजफायर की अपील किए जाने के बावजूद यह घटना हुई है

Loading...
प्रांत के मुखिया मोहम्मद युसूफ अयूबी ने कहा कि सोमवार को आतंकियों ने सड़क से गुजर रही तीन बसों को रोका और सभी लोगों को बंधक बना लिया। यह घटना खान आबाद जिले में हुई। दरअसल, यहां आतंकी झाड़ियों के बीच छिपे घात लगाए हुए बैठे थे और मौका देखकर उन्होंने बसों पर धावा बोल दिया। अयूबी का मानना है कि तालिबानी आतंकी सरकारी कर्मचारियों या फिर सुरक्षाकर्मियों को निशाना बनाने की फिराक में थे।
पड़ोसी प्रांत ताखार के पुलिस चीफ अब्दुल रहमान अकताश ने बताया कि सभी यात्री बदखशान और ताखर प्रांतों के थे। ये सभी काबुल जा रहे थे। इस बीच अयूबी ने कहा कि किसी भी यात्री की अबतक कोई खबर नहीं मिली है, लेकिन स्थानीय अधिकारी तालिबान के साथ बातचीत करने की कोशिश कर रहे हैं। बता दें कि यह घटना जिस इलाके में हुई है, उस पर तालिबान का ही नियंत्रण है।

बता दें कि रविवार को ही अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तालिबान के साथ हालिया संघर्ष के बाद तीन महीने के अस्थायी संघर्षविराम का ऐलान किया था। साथ ही, उन्होंने चेताया भी था कि यह एकतरफा नहीं है। हालांकि तलिबान की इस हरकत के बाद ऐसा मामूम पड़ता है कि अस्थायी संघर्षविराम तीन महीने तक जारी रहना मुश्किल है।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close