LIVE TVMain Slideदेशविदेशस्वास्थ्य

ब्रिटेन में कोरोना के नए स्वरूप को डब्ल्यूएचओ ने बताया काफी खतरनाक

विश्व में जहां संक्रमितों की संख्या 10.15 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है वहीं मृतक संख्या भी 21.86 लाख से अधिक हो गई है। इस बीच, कोरोना वायरस उत्पत्ति का पता लगाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन का जांच दल चीन के वुहान में क्वारंटीन पूरा कर फील्ड पर निकल गया है।

Loading...

चीन पहुंचने के बाद डब्ल्यूएचओ की टीम ने होटल में 14 दिनों का पृथक-वास पूरा कर लिया और बृहस्पतिवार को उन्हें होटल से निकलकर सुबह बस में बैठते देखा गया। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि वे कहां के लिए निकले हैं। यह टीम जांच करेगी कि कोरोना वायरस कैसे फैला।

बता दें कि शुरुआत में चीन अपने यहां पर जांच करने के लिए टीम को नहीं आने देना चाह रहा था, लेकिन वैश्विक दबाव के बाद उसे सहमति देनी पड़ी। डब्लूएचओ ने 10 सदस्यों की टीम को मंजूरी मिलने के बाद बीजिंग भेजा है। इस मुद्दे को लेकर अमेरिका और डब्ल्यूएचओ के बीच काफी तकरार भी हो चुकी है।

डब्ल्यूएचओ ने ब्रिटेन में पिछले माह पाए गए कोविड-19 के नए स्वरूप को काफी खतरनाक बताते हुए कहा है कि यह अब तक 70 देशों में फैल चुका है। डब्ल्यूएचओ ने अपनी साप्ताहिक रिपोर्ट में कहा है

कि यह वायरस ज्यादा घातक है क्योंकि पुराने वायरस के बजाय यह काफी तेजी से फैलता है। हालांकि संगठन ने बताया कि दुनिया में संक्रमण के मामले पहले के मुकाबले 15 फीसदी कम हुए हैं।

कोविड-19 महामारी के कारण पिछले वर्ष रद्द किए गए कान फिल्म समारोह को इस वर्ष जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया गया है ताकि समारोह को लोगों की मौजूदगी में आयोजित किया जा सके। कान के आयोजकों ने घोषणा की कि इस साल का समारोह अपने नियत समय से करीब दो महीने बाद 6-17 जुलाई को होगा।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV