खेल

87 साल में पहली बार बीसीसीआइ रणजी ट्रॉफी का नहीं करेगा आयोजन

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) अब क्रिकेट के तमाम घरेलू टूर्नामेंट को दोबारा से शुरू करने का विचार कर रहा है। घरेलू टी20 लीग सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी के सफल आयोजन के बाद बोर्ड ने अब बाकी टूर्नामेंट को भी शुरू करने के लिए तमाम राज्यों से राय मांगी है। 87 साल में यह पहला मौका होगा जब बीसीसीआइ रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं करेगा।

Loading...

टी20 लीग और भारत-इंग्लैंड के बीच होने वाली सीरीज के आयोजन के साथ ही अब बीसीसीआइ 50 ओवर की विजय हजारे ट्रॉफी, महिला सीनियर वनडे ट्रॉफी और अंडर-19 क्रिकेट में वीनू मांकड़ वनडे ट्रॉफी का आयोजन कराएगा। बीसीसीआइ के सचिव जय शाह ने राज्य संघों को भेजे अपने पत्र में लिखा है कि यह फैसला राज्य संघों से मिले फीडबैक और कोरोना वायरस की वजह से लिया गया है।

इसमें कहा गया है कि इस महामारी ने हर किसी का टेस्ट लिया है। इससे जिंदगी का कोई भी हिस्सा बचा नहीं है। हमने अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट को खोलने के लिए कदम बढ़ाए हैं। क्रिकेट कैलेंडर में हमने काफी वक्त गंवा दिया है। ऐसे में हम वनडे ट्रॉफी कराने को लेकर प्रतिबद्ध हैं। यह भी जरूरी है कि हम महिला क्रिकेट को भी शुरू करें। ऐसे में महिला (सीनियर महिला वनडे ट्रॉफी), पुरुष (विजय हजारे ट्रॉफी) और अंडर-19 (वीनू मांकड़ ट्रॉफी) युवा क्रिकेट में वनडे ट्रॉफी का आयोजन करने के लिए तैयार हैं।

कोरोना का भारतीय क्रिकेट पर असर

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच पिछले साल मार्च में होने वाली सीरीज को कोरोना महामारी फैलने के बाद स्थगित कर दिया गया था। देहरादून में खेला जाने वाले तीन मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मैच बारिश की वजह से रद करना पड़ा था। इसके बाद इस सीरीज को स्थगित कर दिया गया था। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जाने वाली सीरीज से भारत में इंटरनेशनल मैच की शुरुआत हो रही है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV