Main Slideदेश

अशोक चौधरी: नीतीश कुमार का विकल्प नहीं है कोई…

जेडीयू का दामन थामने के लिए कांग्रेस से किनारा कर चुके अशोक चौधरी ने मंगलवार को कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व के महत्त्व की बात करते हुए कहा कि  प्रदेश में अगर अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा गया तो एनडीए को इसका खामियाजा उठाना होगा. चौधरी ने कहा कि यह प्रश्न कहां उठता है कि नीतीश को एनडीए के चेहरे के तौर पर बिहार में पेश किया जाए या नहीं, बल्कि हकीकत यह है कि एनडीए को उनका नेतृत्व स्वीकार करना पडेगा क्योंकि बिहार में गठबंधन में कोई ऐसा नेता नहीं जो कि उनकी तरह सभी को स्वीकार्य हो.

Loading...

उन्होंने कहा कि अगर सीएम नीतीश कुमार को दूसरा स्थान दिया जाता है तो यह वैसा ही होगा कि अपने सबसे अच्छे बल्लेबाज को 12वें खिलाड़ी के स्थान पर रहने को कहा जाए और पारी की शुरुआत करने के लिए कम अनुभवी खिलाड़ी पर विश्वास किया जाए. चौधरी ने कहा कि अगर नीतीश कुमार को बिहार में एनडीए के चेहरे के तौर पर नहीं पेश किया गया तो गठबंधन को नुकसान उठाना पड़ेगा और इसका अंदाजा हम पिछले बिहार विधानसभा चुनाव से लगा सकते हैं.

चौधरी की इस टिप्पणी पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने केवल इतना ही कहा कि अगला लोकसभा चुनाव नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लड़ा जाएगा और इसको लेकर कोई विवाद नहीं है.गौरतलब है कि फिलहाल  बिहार NDA को लेकर कई तरह की अटकलों का बाजार गर्म है. 

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close