उत्तर प्रदेशबड़ी खबर

लमार्ट की छात्रा ने पांचवी मंजिल से कूदकर दी जान, सुसाइड नोट को सुलझाने में जुटी पुलिस

अगर मां-बाप आपको किसी चीज के लिए डांटे तो उसका यह मतलब नहीं कि उन्हें आपकी फिक्र नहीं है वह आपको आपकी ही भलाई के लिए समझाते हैं। लेकिन राजधानी लखनऊ के जाने-माने स्कूल नाम लामार्ट गर्ल्स स्कूल की आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा शालिनी रॉय सिंह (14) ने बुधवार रात को माल एवेन्यू स्थित आरिफ कोर्ट अपार्टमेंट की पांचवीं मंजिल से छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली। लोगों की माने तो छात्रा रात करीब डेढ़ बजे फोन पर बातचीत कर रही थी जिसकी वजह से मां ने उसे डांटा और छात्रा सोने के बहाने कमरे में गई और खिड़की से छलांग लगा दी। पुलिस को कमरे में शालिनी के हाथों लिखा सुसाइड नोट भी मिला।

Loading...

सूत्रों की मानें तो घटना रात करीब ढाई बजे की है। शालिनी आठ मंजिला अपार्टमेंट के पांचवें फ्लोर पर स्थित फ्लैट में माता-पिता के साथ रहती थी। उसके पिता राहुल रॉय चौधरी भारतीय सेना से मेजर के पद से सेवानिवृत्त हैं और फिलहाल विभूतिखंड स्थित टाटा कंसलटेंसी सर्विस में नौकरी कर रहे हैं। उसकी मां अदिति एक निजी बैंक में प्रबंधक हैं।

बुधवार रात करीब डेढ़ बजे वह किसी से फोन पर बातचीत कर रही थी तभी अदिति कमरे में आ गईं। शालिनी को बातचीत करते देख वह नाराज हो गईं और डांटते हुए सोने को कहा। अदिति के जाने के बाद छात्रा ने खिड़की से छलांग लगा दी। कुछ देर बाद अदिति कमरे में आईं तो वह बिस्तर पर नहीं मिली। उन्होंने कमरे की छानबीन की तो शालिनी उन्हें कहीं नहीं दिखी जिससे वह घबरा गई। अचानक खिड़की खुली देखकर नीचे झांका तो चीख निकल गई। शालिनी खून से लथपथ हालत में पड़ी थी। उनकी चीखें सुनकर अपार्टमेंट के लोगों की नींद खुल गई। राहुल, अदिति व अपार्टमेंट के लोग उसे उठाकर सिविल अस्पताल ले गए, जहां शालिनी की मौत हो गई।

पुलिस को शालिनी के कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला। इंस्पेक्टर का कहना है कि छात्रा ने पारिवारिक कारणों से खुदकुशी की है। जांच अभी चालू है।

आपको बता दें शालिनी अपने माता-पिता की इकलौती संतान थी। वह पढ़ने-लिखने में भी तेज थी। राहुल और अदिति ने बताया कि कभी बेटी को किसी भी तरह की तकलीफ नहीं होने दी। उसे कोई परेशानी न हो, इसलिए अलग कमरा दिया गया था। शहर के सबसे अच्छे स्कूल में उसका दाखिला कराया। माता-पिता उसकी हर इच्छा पूरी करते थे। उसकी मौत से दोनों को सदमा लग गया है। रिश्तेदारों व करीबियों ने किसी तरह दोनों को संभाला। शालिनी की मौत से अपार्टमेंट के लोग भी दुखी हैं।

सुसाइड नोट में लिखा था….

शालिनी का सुसाइड नोट काफी अजीबोगरीब था। उसने अपनी कॉपी के एक पन्ने पर नीले रंग के पेन और पेंसिल से छोटा सा सुसाइड नोट लिखा था। सुसाइड नोट पर एक मोबाइल नंबर लिखा था। पुलिस कॉफी देर तक इसे लेकर उलझी रही। सुसाइड नोट पर सबसे पहले पेन से फॉरमेट लिखा था। इसके आगे एक मोबाइल नंबर लिखा था। फॉरमेट और मोबाइल नंबर के बीच क्या संबंध है? यह पुलिस नहीं समझ सकी।

जब नंबर मिलाया तो किसी अभिषेक नाम के लड़के ने कॉल उठाई और उन्नाव के नवाबगंज इलाके से बोलने की जानकारी दी। उसने बताया कि मोबाइल फोन तुषार का है जो उसका दोस्त है। फिलहाल वह अपना फोन यहां छोड़कर कहीं गया हुआ है। इसके नीचे शालिनी ने फ्रेंच भाषा में लिखा ‘मैं एक सेल्सगर्ल हूं।’ यह उसने क्यों लिखा? इस पर भी पुलिस कोई जानकारी नहीं हासिल कर सकी। इसके बाद उसने अंग्रेजी में लिखा, ‘सॉरी मम्मा।’ उसने लिखा कि जो कर रही हूं, उस पर शर्मिंदा हूं, इसलिए मुझे माफ कर देना। छात्रा ने खुद से शर्मिंदा होने की बात क्यों लिखी? पुलिस इस बारे में जानकारी जुटा रही है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV